ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य अंतर्राष्ट्रीय मनोरंजन खेल बिजनेस लाइफस्टाइल आध्यात्म अन्य खबरें
बाबा साहब ने वंचित समाज को संगठित कर समतामूलक समाज की अवधारणा का सिद्वान्त प्रतिपादित किया : डाॅ. मसूद अहमद
December 6, 2019 • Edge express • उत्तर प्रदेश

लखनऊ। राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेश कार्यालय पर आज भारत रत्न बाबा साहेब डाॅ. भीमराव अम्बेडकर के 64वें परिनिर्वाण दिवस पर जिलाध्यक्ष बेला प्रताप राजवंशी की अध्यक्षता व महानगर अध्यक्ष अनीता यादव के संचालन में भावभीनी श्रद्वांजलि रालोद पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं द्वारा अर्पित की गयी। इस अवसर पर मुख्य रूप से रालोद प्रदेश अध्यक्ष डाॅ. मसूद अहमद तथा राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल दुबे, एवं प्रदेश मीडिया प्रभारी जावेद अहमद मौजूद रहे।

इस अवसर पर आयोजित गोष्ठी को सम्बोधित करते हुये प्रदेश अध्यक्ष डाॅ. मसूद अहमद ने कहा कि विषमता के विरूद्व शोषित वंचित समाज को संगठित कर समतामूलक समाज की अवधारणा का सिद्वान्त प्रतिपादित कर बाबा साहब ने समाज को नई दिशा देने के साथ व्यवस्था में अमूल चूल परिवर्तन की राह आसान की।

उन्होंने कहा कि बाबा साहेब ने संविधान का प्रारूप तैयार करके समाज के सभी वर्गो को अवसर देकर राष्ट्र की मुख्यधारा में स्थापित करने का सषक्त प्रयास किया। उनके दिखाये मार्ग पर चलकर ही समाज में एकरूपता स्थापित की जा सकती है। राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल दुबे ने कहा कि बाबा साहेब के सिद्वान्तों पर चलकर ही राष्ट्र के सामाजिक संतुलन को बनाये रखा जा सकता है। बिना किसी भेदभाव के समरसता बनाये रखने के लिए आज हमें उनके बताये रास्ते पर कृत संकल्पित रहना चाहिए।

श्रद्वांजलि सभा व गोष्ठी में वसीम हैदर, सुरेन्द्रनाथ त्रिवेदी, प्रो। यज्ञदत्त शुक्ल, किरन सिंह, मनोज सिंह चौहान, रमावती तिवारी, अंकुर सक्सेना, प्रीति श्रीवास्तव, चन्द्रकांत अवस्थी, रोहित अग्रवाल, अभिषेक चौहान, शशांक श्रीवास्तव, सम्राट सिंह चौहान, विशाल, इमरान अली, हरपाल, अनिल वर्मा, मनोहर मौर्या, विश्वनाथ, रिंकू, दीनू आदि रालोद पदाधिकारी प्रमुख रूप से मौजूद रहे।