ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य अंतर्राष्ट्रीय मनोरंजन खेल बिजनेस लाइफस्टाइल आध्यात्म अन्य खबरें
बचाव से होगी विजय
May 9, 2020 • Edge express • अन्य खबरें

रिपोर्ट-डॉ. दिलीप अग्निहोत्री

कोरोना के इस दौर में शिक्षण संस्थान भी अपनी भूमिका का निर्वाह कर रहे है। इसके मद्देनजर लखनऊ विश्वविद्यालय के सीपीसी द्वारा बेबीनार की श्रृंखला संचालित की जा रही है। इसमें सम्बद्ध कॉलेजों की भी सहभागिता हो रही है। इस क्रम में शिया पी जी कालेज में आज कोविड 19 महामारी के वैश्विक स्वरूप और उससे बचाव विषय पर बेबीनार का आयोजन किया गया। इसमें प्रो मधुरिमा लाल विशिष्ट अतिथि थी। विषय विशेषज्ञ के रूप में प्रो.सुधीर कुमार महरोत्रा,विभागाध्यक्ष, बायोकमेस्ट्री, लखनऊ विश्वविद्यालय का व्याख्या हुआ। उन्होंने कोरोना के खिलाफ जंग का बेहतर अंदाज में समझाया। कहा कि अभी दुनिया में इस बीमारी के उपचार का कोई साधन उपलब्ध नहीं है, ऐसे में बचाव का ढाल ही है। यही कोरोना पर विजय प्राप्त करने का मुख्य साधन है।

उन्होंने कहा कि चीन के वुहान शहर से फैले इस वायरस ने पूरी दुनिया में तबाही है।अभी तक कोई वैक्सीन नहीं बन पाने के कारण यह लाइलाज है। अतः जिसने भी लापरवाही बरती, वह इस खतरनाक बीमारी की चपेट में आता जा रहा है। इसका दुष्प्रभाव हमारे शरीर के जीवन रक्षक अंगों जैसे फेफड़ा, लीवर, किडनी, हार्ट और ब्रेन आदि पर सीधे पड़ता है, जिस कारण हमें वेंटीलेटर तक की आवश्यकता पड़ रही है। इसका दुष्प्रभाव उन लोगों पर ज्यादा पड़ रहा, जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम है, जैसे बच्चों, बुजुर्गों या गंभीर बीमारी से ग्रसित लोगों पर। प्रो. महरोत्रा कोविड-19 से लड़ने के लिए बचाव को सर्वाधिक उपयुक्त उपाय बताया। उन्होंने कहा कि हमें सबसे पहले तो संतरा,दही, नीबू, हल्दी का दूध, गर्म पानी आदि का सेवन कर अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ानी चाहिये।

इसके अलावा सोशल डिस्टेंशिंग, साबुन के पानी से हाथ धुलना,सत्तर प्रतिशत मिश्रित एल्कोहल वाले सेनीटाइजर का उपयोग करना, मास्क का उपयोग करने आदि के माध्यम से भी हम कोरोना की पहुंच से दूर रह सकते हैं। धूम्रपान और एल्कोहल के सेवन से भी बचने की भी जरूरत है। मौलाना यासूब अब्बास ने ऐसे बेबीनार को उपयोगी बताया। कहा कि इन प्रयासों के माध्यम से लोगो को जागरूक किया जा सकता है। कालेज के प्रबंधक सैयद अब्बास मुर्तजा शम्सी ने व्याख्यान को उपयोगी बताते हुए सभी को अपने जीवन में उतारने की अपील की। उन्होंने प्रतिभागियों का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि कोरोना महामारी से बचाव के लिए वे इस संदेश को अपने आस पास के लोगों में भी फैलाने का कार्य करें।

व्याख्यान का आयोजन फैकल्टी ऑफ कामर्स के तत्वावधान में किया गया। विभागाध्यक्ष डाॅ. शोएब अहमद ने कार्यक्रम का संचालन किया। कार्यक्रम में डॉ. विनीत कुमार महामंत्री लूटा, डॉ. अनीस अहमद, डॉ. शबाहत शमीम, डॉ. अल्वी ने भी प्रतिभाग कियाl तकनीकी जिम्मेदारी डाॅ. वहीद आलम ने संभाली। इस अवसर पर डाॅ. एमएमअबु तैयब, डायरेक्टर, सेल्फ फाइनेंस, डॉ. अतहर मिर्जा, परीक्षा नियंत्रक डाॅ. आगा परवेज मसीह, कुलानुशासक डाॅ. भुवन भाष्कर, डॉ. शबी रजा, डॉ. शुजात हुसैन, डाॅ. शोएब अहमद इंचार्ज, फैकल्टी आफ कामर्स आदि की उपस्थिति महत्वपूर्ण रही।