ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य अंतर्राष्ट्रीय मनोरंजन खेल बिजनेस लाइफस्टाइल आध्यात्म अन्य खबरें
डीएम, एसएसपी ने संयुक्त रूप से जनपद में संचालित कम्यूनिटी किचिन का लिया जायजा, जलेसर में बेसहारा को कराया भोजन
April 24, 2020 • Edge express • उत्तर प्रदेश

एटा। शासन के निर्देशों के अनुपालन में जिला मजिस्ट्रेट सुखलाल भारती एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार सिंह ने शनिवार को प्रातः जनपद में विभिन्न स्थानों पर संचालित सामुदायिक रसोई का औचक निरीक्षण किया। डीएम, एसएसपी ने इस दौरान सर्वप्रथम तहसील एटा सदर क्षेत्र के अन्तर्गत जिला पंचायत स्थित सामुदायिक रसोई पर पहुंचकर जायजा लिया। 

डीएम, एसएसपी ने इस दौरान पाया कि सामुदायिक रेसाई में खाना बन रहा था, इसी बीच डीएम, एसएसपी ने अपने लिए खाना मंगाया और खाने को खाते हुए खाने की गुणवत्ता को चैक किया।  डीएम, एसएसपी ने जलेसर आदि क्षेत्रों में संचालित सामुदायिक रसोई पर भी पहुंचकर औचक निरीक्षण किया। जहां पहुंचे एक बेसहारा व्यक्ति को डीएम, एसएसपी ने अपनी दरियादिली पेश करते हुए उसे अपने हाथों से भोजन भेंट कर भोजन कराया, साथ ही उस व्यक्ति से स्वास्थ्य का भी हालचाल लिया। 

उन्होंने कहा कि सामुदायिक रसोई का उद्देश्य है कि क्षेत्र में कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे। इसके लिए आवश्यक है कि सामुदायिक रेसाई के माध्यम से क्षेत्र में रहने वाले निराश्रित, बेसहारा, असहाय एवं दिव्यांग व्यक्तियों को भोजन कराया जाए। प्रदेश सरकार की प्राथमिकता के अनुरूप यह सुनिश्चित किया जाए, जिसे भोजन की जरूरत है उसे उसके गंतव्य तक भोजन पहुंचाने की भी व्यवस्था होनी चाहिए। 

डीएम, एसएसपी ने निर्देश दिए कि बजट की कोई कमी नहीं हैं, सामुदायिक रसोई पर हर हाल में गुणवत्तापूर्ण खाना बनाया जाए, खाना बनाने एवं खाते समय सोशल डिस्टैंस का भी प्रमुखता से ख्याल रखा जाना चाहिए। लाॅकडाउन की अवधि में ग्रामीण क्षेत्र एवं शहरी क्षेत्र के साथ-साथ अन्य स्थानों पर भी भ्रमण कर चैक कराया जाए, कि कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे। कन्ट्रोलरूम पर खाने के संबंध में सूचना प्राप्त होने के बाद सूचना देने वाले व्यक्ति तक भोजन की उपलब्धता भी सुनिश्चित की जाए। सामुदायिक रसोई पर नियमित साफ सफाई भी रहनी चाहिए।

रिपोर्ट-अनंत मिश्रा