ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य अंतर्राष्ट्रीय मनोरंजन खेल बिजनेस लाइफस्टाइल आध्यात्म अन्य खबरें
दिल की बीमारी का खतरा होगा कम,खाने में ये करें शामिल...
December 24, 2019 • Jyoti Singh • लाइफस्टाइल

एक अध्ययन में पता चला है कि मिर्च खाने से दिल की बीमारी से मौत का खतरा कई गुना कम हो जाता है। 23 हज़ार लोग इस अध्ययन का हिस्सा थे, जिसमें ये पाया गया कि अगर रोज़ाना मिर्च का सेवन किया जाए तो स्ट्रोक का खतरा 61 प्रतिशत कम हो जाता है। साथ ही इससे इस्केमिक हृदय रोग से मरने का जोखिम भी 44 प्रतिशत तक कम हो जाता है।

मिर्च में ऐसा क्या है-
मिर्च में कैपसाइसिन नाम का एक रसायन होता है, जो सूजन को कम करने में मदद करता है। पहले लेखक इंस्टीट्यूट फॉर रिसर्च, हॉस्पिटलाइज़ेशन एंड हेल्थ केयर की डॉ. मारियालौरा बोनाकियो, (IRCCS) ने बताया, “एक दिलचस्प तथ्य ये है कि मृत्यु के जोखिम से सुरक्षा के लिए हर इंसान अपनी डाईट में क्या खा रहा है इसका बड़ा असर पड़ता है। इसका मतलब ये हुआ कि कोई सेहतमंद मेडिटरेनीयन डाईट खा रहा हो या फिर अनहेल्दी खाना, इन सभी में मिर्च अहम रोल अदा करेगी।

अध्ययन के परिणामों से पता चला कि जो लोग मिर्च कम खाते हैं। उनकी तुलना में जिन लोगों ने हफ्ते में कम से कम चार बार मिर्च का सेवन किया, आठ साल तक उनकी मृत्यु का खतरा कम हो जाता है। कुछ रिसर्च की मानें तो मिर्च के सेवन से कैंसर और डायबिटीज़ का ख़तरा भी कम होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि यह आंत के बैक्टीरिया को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है और इससे मोटापे से निपटना आसान हो जाता है।

इटली की यूनिवर्सिटी ऑफ इंसुब्रिया की प्रोफेसर लिसिया इंआकोविलो ने कहा, “मिर्च हमारे खाने का अहम हिस्सा रही है। आपको ये अक्सर इटली की बालकनी में लटकती नज़र आ जाएंगी, यहां तक कि जूलरी में भी इसकी डिज़ाइन पॉपुलर है।” सदियों से सभी तरह के लाभकारी गुण इसके सेवन के साथ जुड़े हुए हैं, अधिकतर जादू-टोना या जादू न कहें तो परंपराओं के आधार पर।

वहीं इसी तरह की एक रिसर्च में पाया गया कि मिर्च खाने से आपकी उम्र बढ़ती है। अध्ययन का हिस्सा रहे मेडिकल छात्र मुस्तफा चोपन, ने समझाया, “क्योंकि हमारा अध्ययन पिछले निष्कर्षों की सामान्यता में जोड़ता है, इसलिए आगे चलकर ऐसा भी हो सकता है कि डाईट में मिर्च या मसालेदार खाने की सलाह दी जा सकती है।