ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य अंतर्राष्ट्रीय मनोरंजन खेल बिजनेस लाइफस्टाइल आध्यात्म अन्य खबरें
लक्ष्य के अनुरूप कार्यो में प्रगति न मिलने पर डीएम ने 4 चिकित्सकों का रोका वेतन, लगाई कड़ी फटकार 
November 27, 2019 • Edge express • उत्तर प्रदेश
रायबरेली। जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना ने बचत भवन के सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति शासी निकाय की बचत भवन सभागार में आयोजित बैठक अध्यक्षता करते हुए कहा कि स्वास्थ्य कार्यक्रमों में लक्ष्य के अनुरूप प्रगति न पाये जाने पर सरेनी, सलोन, लालगंज, नसीराबाद आदि सहित कई एमओआईसी को कड़ी फटकार लगाते हुए समस्त एमओआईसी चिकित्सा अधीक्षक को निर्देश दिये कि स्वास्थ्य कार्यक्रम में लक्ष्य के अनुरूप प्रगति लाई जाये तथा जननी सुरक्षा योजना भुगतान के लाभार्थियों व आशाओं को ससमय भुगतान करे साथ शत-प्रतिशत किया जाना सुनिश्चित करें। जिन स्वास्थ्य कर्मियों, आशाएं की प्रगति शून्य है यह अपने कार्यो निष्क्रय उनकी विरूद्ध नियामानुसार कार्यवाही करें। आयुष्मान भारत योजना अन्तर्गत गोल्ड कार्ड वितरण एवं मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना में अपेक्षित प्रगति लाये। भुगतान सम्बन्धी कार्यो में विशेष सर्तकता बरते नियमों की अंदेखी न हो। जिलाधिकारी ने राष्ट्रीय अन्धता कार्यक्रम के अन्तर्गत लक्ष्य की पूर्ति न पाये जाने पर डा. नीलम व डा. चन्द्रशेखर शर्मा, सीएससी लालगंज की प्रभारी एमओआईसी डा. अमिता शुक्ला व सीएचसी बछरावा की डा. प्रीति गुप्ता सीजेरियन प्रसव कम पाये जाने पर माह नवम्बर का वेतन रोकने का निर्देश दिये है।
उन्होंने कहा कि जनपद में 4 दिसम्बर तक चलाये जा रहे पुरूष नसबन्दी अभियान व चार चरणों में चलने वालें संघन मिशन इन्द्रधनुष अभियान को प्रभारी तरीके से चलाया जाये। अभियानों का माईकों प्लान यदि नही तैयार है तो उसे बेहतर बनाकर प्लान के अनुरूप अभियानों को सफल बनाये। इसके अलावा जनपद में चलाये जा रहे फाईलेरिया अभियान व संचारी रोग नियंत्रण अभियान को भी युद्ध स्तर पर सफल बनाये। एमओआईसी क्षेत्र में कार्य कर रही आशाओं व एएनएम को कार्यो पर पूरी तरह से नजर रखे तथा उनके कार्यो की निरन्तर समीक्षा भी करते रहें। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य कार्यक्रमों के प्रति अधिक जागरूकता बढे। स्वास्थ्य कार्यक्रमों में अधिक जागरूकता व लक्ष्य के अनुरूप प्रगति लायी जाये। उन्होंने एमडीए कार्यक्रम सफल संचालन के निर्देश देते हुए कहा कि एमडीए कार्यक्रम 10 दिसम्बर तक नियत है जिसमें दवा सेवन कार्यक्रम सप्ताह में 04 दिवस प्रातः 11बजे से साय 5 बजे तक होना है। छूटे हुए घरों का पुनः दवा सेवन कराना है।
 
जिलाधिकारी ने अपर मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये कि समस्त जिला स्तरीय एवं ब्लाक स्तरीय चिकित्सा इकाई की सफाई व्यवस्था चिकित्सालय परिसर एवं शौचालय की साफ-सफाई व्यवस्था नियमित रूप से दुरूस्त रखी जाये।
जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना ने कहा कि नियमित टीकाकरण के कार्यो की समीक्षा करते हुये कहा कि टीकाकरण से सम्बन्धित कार्य जमीनी स्तर पर दिखाई पडे़ तथा नियमित टीकाकरण से फील्ड वर्कर को भी जोड़ा जाये। आशा, एएनएम आदि द्वारा नियमित टीकाकरण की बैठक पूर्व में ही होती है तथा कार्य योजना का भली-भांति क्रियान्वयन किया जाता है कार्यो की समीक्षा भी करते रहे। शासी निकाय समिति द्वारा जो कार्यक्रम योजनाए समयबद्ध है उन्हें समयबद्ध तरीके से कार्यो में रूचि लेकर पूरा किया जाये।  जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना ने कहा कि योजनान्तर्गत जो कार्य कराये जा रहे हैं वह शासन की मंशा के अनुरूप कराये। जिसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये। 
 
इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी राकेश कुमार, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. शरद कुमार वर्मा, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. एस.के. चक, सीएमएस एन.पी. श्रीवास्तव, डॉ. कृष्णा सोनकर, एडी सूचना प्रमोद कुमार सहित समस्त सीएचसी के अधीक्षक आदि भी उपस्थित रहे।
रिपोर्ट-रत्नेश मिश्रा