ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य अंतर्राष्ट्रीय मनोरंजन खेल बिजनेस लाइफस्टाइल आध्यात्म अन्य खबरें
नए साल 2020 में इन राशि वालों को रहना होगा सतर्क, राहु का होगा राशि परिवर्तन...
December 2, 2019 • Jyoti Singh • आध्यात्म

ज्योतिष शास्‍त्र में राहु-केतु दो ऐसे ग्रह हैं, जिन्हें पाप ग्रह या छाया ग्रह भी कहा जाता है। जब भी यह स्थान बदलते हैं या फिर ये जिस ग्रह के साथ बैठते हैं उसी के अनुसार अपना प्रभाव देने लगते हैं। यह दोनों ग्रह अगर कुंडली में गलत स्थान पर बैठ जाएं तो पूरा जीवन खराब कर सकते हैं। आपको बता दें कि 7 मार्च 2019 से राहु कर्क राशि से मिथुन राशि में प्रवेश किया था अब यह वर्ष 2020 की शुरुआत से लेकर 23 सितंबर 2020 को तक मिथुन राशि में रहेंगे। इसके बाद वृष राशि में जाएगा।

जिस ग्रह पर भी राहु का प्रभाव पड़ता है, उन जातकों को कई तरह के मानसिक और शारीरिक कष्टों को सहना पड़ता है। यहां हम आपको बता रहे हैं राहु के नए साल में राशि परिवर्तन से क्या प्रभाव पड़ेंगे। खासकर मेष, सिंह और कर्क राशि वालों के लिए यह अच्छा है वहीं बाकि के राशि वालों को थोड़ा संभल कर रहना होगा-

  • वृष राशि वालों को अपनी वाणी पर संयम रखना होगा। इसकी वजह से पैसों की किल्लत हो सकती हैं। वहीं परिवार में मनमुटाव रहेगा।
  • इसके अलावा मिथुन राशि वालों को बीमारियां घेरेंगी, वहीं दिमागी तौर पर भी ये लोग परेशान रहेंगे। फैसले लेते वक्त सावधानी बरतें।
  • कन्या राशि वालों को इस साल नौकरी में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।
  • तुला राशि वालों को कड़ी मेहनत करनी होगी, भाग्य पर रहना छोड़ देंष अन्यथा नुकसान होगा।
  • वृश्चिक वाले ड्राइविंग करते समय सावधान रहें। दुर्घटना की आशंका है।
  • धनु राशि वाले पैसों के मामले में किसी पर भरोसा न करें, जीवनसाथी से भी अनबन हो सकती है।
  • मकर राशि वालों को राहु और अधिक कर्जा दिला सकता है। इसलिए सोचसमझकर फैसला लें।
  • कुंभ इस साल आपकी संतान को समस्याएं हो सकती हैं।
  • मीन राशि वालों की इस साल आपकी माता जी को शारीरिक परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

राहु शांति के लिए आप ये उपाय कर सकते हैं-

  • राहु की शांति के लिए राहु के बीजमंत्र का 18000 की संख्या में जप करें।
  • राहु यंत्र की घर में स्थापना से भी, व्यक्ति की पीड़ा कम हो जाती है।
  • राहु को शांत करने के लिए शनिवार का व्रत करना चाहिए।
  • कौए को मीठी रोटी दें और ब्राह्मण या गरीबों को चावल खिलाएं।
  • गरीब व्यक्ति की कन्या की शादी करनी चाहिए।
  • राहु की दशा से आप पीड़ित हैं तो अपने सिरहाने जौ रखकर सोएं और सुबह उनका दान कर दें इससे राहु की दशा शांत होगी।
  • राहु का बीज मंत्र- ॐ भ्रां भ्रीं भ्रौं सः राहवे नमः।