ALL राष्ट्रीय उत्तर प्रदेश अन्य राज्य अंतर्राष्ट्रीय मनोरंजन खेल बिजनेस लाइफस्टाइल आध्यात्म अन्य खबरें
प्रदेश का किसान भाजपा के झूठे लाॅलीपाप के चक्कर में निरन्तर तबाही का मंजर झेल रहा: डाॅ. मसूद 
November 16, 2019 • Jyoti Singh • उत्तर प्रदेश

लखनऊ। राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेश अध्यक्ष डाॅ. मसूद अहमद ने योगी सरकार पर हमलावर होते हुये कहा कि प्रदेश का किसान भारतीय जनता पार्टी के झूठे लाॅलीपाप के चक्कर में निरन्तर तबाही का मंजर झेल रहा है क्योंकि उसकी आय दुगुनी करने का सपना दिखाने वाली सरकार उनकी अनदेखी करने पर तुली है। गन्ना किसानों का अभी तक हजारों करोड़ रूपया बकाया है जिसके फलस्वरूप किसानों के अनेको आवश्यक कार्य रूके हुये हैं जिनमें बेटियों की शादियां तक हैं। प्रदेश सरकार ने गन्ने का समर्थन मूल्य भी 450 रूपये प्रति कुन्तल नहीं किया जिससे किसानों में मायूसी है।

डाॅ. अहमद ने कहा कि प्रदेश के अनेकों जनपदों में अभी तक धान क्रय केन्द्र भी खोले नहीं गये हैं और जहां खुले भी हैं, वहां कर्मचारियों की मिलीभगत से बिचौलियों द्वारा किसानों का शोषण किया जा रहा है और उनके धान औने-पौने दामों पर खरीदे जा रहे हैं। किसानों की मजबूरी यह है कि उनकी फसल तैयार होने पर ही उनके आवश्यक कार्य सम्भव हो पाते हैं। किसानों के अनमीटर्ड बिजली कनेक्शनों तथा नलकूपों के बढ़े हुये विद्युत मूल्यों के प्रति भी सरकार अपने रूख में कोई परिवर्तन नहीं कर रही है और किसान कराह रहा है।

रालोद प्रदेश अध्यक्ष ने प्रदेश सरकार से मांग करते हुये कहा कि तत्काल बकाया गन्ना मूल्य का भुगतान करने के साथ-साथ गन्ने का समर्थन मूल्य 450 रूपये प्रति कुन्तल किया जाय तथा धान क्रय केन्द्रों की व्यवस्था सुचारू रूप से संचालित की जाय ताकि किसानों का शोषण बंद हो सके। साथ ही उन्होंने प्रदेश के लघु और सीमान्त किसानों को केन्द्र सरकार द्वारा मिलने वाली किसान मानधन योजना की समीक्षा की जाय क्योंकि सभी पात्र किसानों को इस योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। यदि शीघ्र ही किसानों के मुददों पर सरकार न चेती तो राष्ट्रीय लोकदल सड़कों पर उतरने के लिए बाध्य होगा।